HINDILIFEPopular

दुख दूर करने के लिए 5 उपाय

दुख दूर करने के लिए 5 उपाय

कभी-कभी हर इंसान की जिंदगी में ऐसा वक्त भी आता है। लगता है कि सब कुछ खो दिया हो जैसे। जैसे कि इस मुश्किल घड़ी में कोई साथ ही नहीं दे रहा हो। हर कोई अपनी धुन में खोया है जैसे। किसी को कोई फर्क नहीं पड़ रहा हमारी परेशानियों से। हमारी दुखों से। ऐसा लगता है जैसे बिल्कुल अकेले हो गए हों। जैसे समय ही रुक गया हो। थम सी गई हो जिंदगी। वक्त गुजरता ही नहीं लगता है। लगता है कि एक के बाद एक और परेशानीयां आ रही है। चीजें सुलझती ही नहीं। ऐसी परिस्थिति में कई बार इंसान अपनी जिंदगी से ही हार मान लेता है। ऐसा लगता है जैसे जीना, मरना एक बराबर है। लोग जीने की आशा ही छोड़ देते हैं। लेकिन यदि कोई आपका अपना जिसे आप प्यार करते हो जिसने आपके लिए जिंदगी में बहुत कुछ किया हो। अगर ऐसी परिस्थितियों से गुजर रहा हो तो कुछ छोटी-छोटी बातें हैं जिससे आप उन्हें बहुत जल्दी इन बातों से बाहर ला सकते हैं ये पांच छोटी छोटी सी बातें अगर हम किसी भी मायूस और दुखी इंसान से कहेंगे तो उस इंसान को जीने की फिर से नई वजह मिल जाएगी। कोई इंसान कितना भी टूटा हुआ क्यों ना हो पर उसे ये पांच चीजें मिल जाए तो रोता हुआ इंसान भी मुस्कुराने लगेगा।

Support

सबसे पहला emotional support (भावनाओं का सपोर्ट) जो इंसान दर्द में है तकलीफ में है यदि हम उसकी भावनाओं को उसकी तकलीफों को समझेंगे नहीं तो वो कभी उन तकलीफों से बाहर निकल ही नहीं पाएगा। यदि हम किसी दुखी इंसान के दर्द को सिर्फ समझ ही लें उसे ये एहसास हो कि कोई है मेरे दर्द को समझने वाला मेरी तकलीफ को समझने वाला तो उसका आधा दुख वैसे ही दूर हो जाएगा। छोटी-छोटी बातों से किसी भी मायूस इंसान की जिंदगी में खुशियों को भरा जा सकता है। उसे ये कहो कि मुझे तुम पर विश्वास है। तुम खुद को उस परिस्थिति से जल्दी ही बाहर निकाल लोगे। तुममें बहुत हिम्मत है जो चाहे कर सकते हो। जब कोई इंसान खुद को अनवांटेड फील करता है, कि मेरी किसी को जरूरत नहीं उसे कोई प्यार नहीं करता तो इंसान depression में चला जाता है। चिंताओं में चला जाता है। पर जब उसे ये लगता है कि कोई मेरी परवाह करने वाला है किसी को मेरे सुख-दुख से फर्क पड़ता है तो इंसान भारी से भारी दुखों से भी जल्दी से बाहर आ सकता है। अगर हम किसी इंसान को बार-बार यह कहते रहे कि तुम ऐसे हो, तुम वैसे हो तुममें ऐसी कमियां है तुम्हें यह नहीं आता, तो अच्छा खासा उत्साह वाला इंसान भी उदास हो जाएगा। निराश हो जाएगा। और किसी मायूस इंसान को यह कहें कि तुम तो बहुत अच्छे हो तुम जो चाहे वह कर सकते हो तो वह मायूस इंसान भी मुस्कुराने लग जाएगा।

एक वैज्ञानिक ने एक प्रयोग किया उसने दो पौधे लगाए उन दोनों पौधों को वह बराबर मात्रा में पानी भी देता रहा, सूरज की रोशनी भी देता रहा, खाद भी देता रह, उसने सब कुछ दोनों पौधों को एक जैसा दिया। पर वो जाकर एक पौधे की बुराई करता रहता था। उस पौधे को वह बहुत भला भुला कहता था। और दूसरे पौधे से वह बहुत मीठी-मीठी बातें करता था बहुत अच्छी अच्छी बातें कहना था। सब कुछ एक जैसा होने के बाद भी जिससे वह भला बुरा कहता था वह पौधा मुरझा गया। मर गया। दूसरा पौधा जिसकी वह प्रशंसा करता था तारीफ करता था उस पौधे में फूल निकलने लगे वह पौधा खिलने लगा। सब कुछ एक जैसा होने के बाद भी जिसको नकारा गया जिसको अपमानित किया गया वो पौधा मुरझा गया। जब पेड़ पौधों पर हमारी बातों का इतना असर हो सकता है तो आप सोचो इंसान के दिल में कितना असर हो सकता है। तो जब भी कोई इंसान मायूस दिखें उदास दिखे तो उसे emotional support करो। भावनात्मक रूप से उसके साथ रहो। इंसान दुख से गुजर रहा होता है दुख की घड़ी में अगर उसका साथ देता है तो वह इंसान हमेशा उसे याद रखता है कि जब मैं इतनी परेशानी में था तो इस इंसान ने मेरा साथ दिया और ऐसी परिस्थिति में जब कोई उसका साथ छोड़ देता है तो उसे भी वह इंसान याद रखता है कि मैंने जिनके लिए सब कुछ किया जब मेरे ऊपर मुसीबत आई तो इन सब लोगों ने मेरा साथ छोड़ दिया। तो इसलिए जो इंसान ऐसी परिस्थितियों से गुजर रहा हो अगर आप उसका दुख दूर करना चाहते हैं खुश देखना चाहते हैं। तो सबसे पहले आप उसे अपनी भावनाओं का सपोर्ट कीजिए।

दूसरी बात जब भी कोई इंसान ऐसी परिस्थिति में हो तो आप उससे कहो घबराओ मत मैं तुम्हारे साथ हूं। चिंता मत करो जो भी होगा हम साथ में देख लेंगे। बिल्कुल भी चिंता मत करो। किसी भी टूटते हुए इंसान को सिर्फ इतनी सी बात कह देना कि मैं तेरे साथ हूं उसे जिंदगी जीने की नई ताकत मिल जाएगी और सिर्फ कहो मत अगर वो वाकई परेशानी में है तो उसका साथ दीजिए।

तीसरी बात जो भी इंसान दुखों में होता है उसे ये लगता है कि वक्त जैसे ठहर सा गया ह आप यह मत समझना वक्त हमेशा एक जैसा चलता है जब सुख का समय होता है तो वक्त बहुत जल्दी गुजर जाता है। कई लोग कहते हैं पता ही नहीं चलता कि इतना अच्छा समय इतनी जल्दी कैसे गुजर गया। और दुख की घड़ियों में वक्त जैसे ठहर जाता है एक-एक पल एक-एक सदियों के समान लगता है।‌ तो ऐसे इंसान को आप ये भरोसा दिलाइए कि यह वक्त भी गुजर जाएगा। जैसे जिंदगी की सारी चुनौतियों को पार करके दुखों को पार करके आज हम यहां खड़े हैं तो ये भी गुजर जाएगा सब अच्छा होगा। चिंता मत करो। सब अच्छा होगा।

चौथी बात हम अक्सर ये गलती करते हैं जब कोई इंसान परेशानी में होता है। दुख में होता है। तो उसे अलग अलग सलाह देने लगते हैं। कई बार इंसान ऐसी उलझनो में होता है कि उसे किसी की सलाह समझ में ही नहीं आती ऐसी स्थितियों में आप उसे कोई सलाह मत दीजिए। उसे सुनिए। उसकी तकलीफ को समझिए ऐसी परिस्थिति मैं आपको कोई जरूरत नहीं कि आप बीच में बोले अगर वह अपना सारा दुख अपनी सारी तकलीफ आपके आगे बयान कर देगा। जो दुख उसने अपने दिल के अंदर भर रखा है वह सारा दुख निकल जाएगा उसे बोलने दीजिए उसे बोलने का मौका दीजिए। ऐसी परिस्थिति में सलाह देने से अच्छा है उसके दर्द को सुनकर ही उसका दर्द मिटाइए।

10 Brutal Truth Of Life In Hindi

Support

पांचवी बात जब भी कोई इंसान दर्द से जूझ रहा हो तकलीफ में हो और इतना परेशान हो कि उसे कोई रास्ता ही नहीं दिखाई दे। यदि आप चाहते हैं कि वो उन दुखों से जल्दी से जल्दी बाहर आ जाए तो यह काम आप जरूर करना उसे उसकी खूबियां बताइए उसे ये बताइए कि वह कितना स्पेशल है। उसे यह बताइए वह कितना अच्छा है उसे वह भी बताइए कि उसे जो मिला है बहुतों को नहीं मिला। क्योंकि जब इंसान निराश होता है उदास होता है उसे अपनी जिंदगी में सब कुछ गलत लगता है। उसे अपने आप में भी सब कुछ गलत दिखने लगता है। पर यदि आप उसे इसकी खूबियों का एहसास कराएंगे। उसकी अच्छाइयों का एहसास कराएंगे। उसने जो जिंदगी में पाया है इन सब बातों का एहसास कराएं कोई इंसान गम में कितना भी क्यों ना डूबा हो सारे शिकवे को भुलाकर उसमें जान आ जाएगा। जिंदगी में दुख चाहे कितना भी बड़ा क्यों न हो यदि आप अपनी हिम्मत को दुखों से भी बड़ा कर लेंगे तो कोई दुख आपकी जिंदगी में टिक नहीं पाएगा। ठहर नहीं पाएगा। याद रखना एक बात यदि आपने हार मान ली तो दुख जीत जाएगा। यदि आपने जीतने की ठान ली तो दुख हार जाएगा। और यदि जीतना है तो हौसला रखना पड़ेगा। हिम्मत रखना पड़ेगा लड़ना पड़ेगा और आगे बढ़ना पड़ेगा। तो इसलिए जो लम्हा चल रहा है जो पल चल रहा है हम यह ठान लें कि चाहे जो भी हो पर इस पल में हम खुश हो कर दिखाएंगे। मुस्कुरा कर दिखाएंगे। जिंदगी संवारने को तो जिंदगी पड़ी है चलो वह लम्हा संवार लेते हैं जहां जिंदगी खड़ी है। चाहे कैसी भी परिस्थिति आ जाए लेकिन आपमें वो हिम्मत है कि आप हर दुख को पार कर सकते हो। हर तकलीफ से खुद को निकाल सकते हो। सारी जिंदगी आपने निकाला है अब यह भी निकाल लोगे। और आगे भी निकाल के दिखाओगे। अपनी हिम्मत को जगाओ। अपनी शक्ति को पहचानो और दुखों से जीत के मुस्कुराकर दिखाओ।

Source
Image By Pexels.com
Show More

Related Articles

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker
%d bloggers like this: